चीफ जस्टिस उदय ललित की कोर्ट को भावभीनी विदाई, सीढि़यों पर सिर रखकर किया अभिवादन Hindi-khabar

समाचार महाराष्ट्र 24

नई दिल्ली: देश के मुख्य न्यायाधीश उदय ललित अपने करियर के आखिरी दिन भावुक नजर आए। चीफ जस्टिस उदय ललित ने आज सुप्रीम कोर्ट के कदमों पर सिर झुकाया. करीब 37 साल तक सेवा देने के बाद अपने आखिरी दिन चीफ जस्टिस उदय ललित भावुक हो गए।

अपने करियर के आखिरी दिन चीफ जस्टिस उदय ललित ने कोर्ट को भावभीनी विदाई दी. मुख्य न्यायाधीश उदय ललित ने 29 साल तक कानून की प्रैक्टिस की और पिछले आठ साल से सुप्रीम कोर्ट में जज के तौर पर काम किया। इसलिए आज उनका आखिरी दिन था। उन्होंने सीधे सुप्रीम कोर्ट की सीढ़ियों पर सिर झुकाकर विदाई दी। तालक्कोनन के देवगढ़ में गिरिये गांव के उदय ललित को 27 अगस्त को देश के 49वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया था। मुख्य न्यायाधीश उदय ललित को मुख्य न्यायाधीश के रूप में तीन महीने से भी कम समय मिला। अब वह बुधवार को सेवानिवृत्त होंगे और उनकी जगह न्यायाधीश धनंजय चंद्रचूड़ लेंगे।

न्यायमूर्ति धनंजय चंद्रचूड़ 50वें मुख्य न्यायाधीश

न्यायमूर्ति धनंजय यशवंत चंद्रचूड़ को देश का अगला मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया है। जस्टिस चंद्रचूड़ 9 नवंबर से कार्यभार संभालेंगे और देश के 50वें मुख्य न्यायाधीश होंगे। उनका कार्यकाल 10 नवंबर 2024 तक रहेगा।

मई 2016 में, न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ ने सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में पदभार ग्रहण किया। उनके पिता वाईवी चंद्रचूड़ भी देश के मुख्य न्यायाधीश रह चुके हैं। वाईवी चंद्रचूड़ के नाम मुख्य न्यायाधीश के रूप में सबसे लंबे कार्यकाल का रिकॉर्ड भी है। वह 1978 से 1985 तक सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रहे। जस्टिस धनंजय यशवंत चंद्रचूड़ का जन्म 11 नवंबर 1959 को हुआ था। चंद्रचूड़ सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज हैं। उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से एलएलबी की डिग्री हासिल की है। 1998 में, उन्हें बॉम्बे हाई कोर्ट में एक वरिष्ठ अधिवक्ता के रूप में नामित किया गया था। वह इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश भी रह चुके हैं। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ सबरीमाला, समलैंगिकता, आधार और अयोध्या मामलों सहित कई बड़े मामलों में जज के तौर पर काम कर चुके हैं.


और भी खबर पढ़े यहाँ क्लिक करे


ताज़ा खबरे यहाँ पढ़े


आपको हमारा पोस्ट पसंद आया तो आगे शेयर करे अपने दोस्तों के साथ


 

Leave a Comment