दिल्ली कार टेरर: पुलिस उसे क्यों नहीं रोक सकी, इसकी जांच केंद्र कर रहा है Hindi-khbar

दिल्ली कार आतंक: पुलिस उसे क्यों नहीं रोक सकी, इसकी केंद्र की जांच

पुलिस ने कहा कि जांच रिपोर्ट गृह मंत्रालय को भेजी जाएगी।

नई दिल्ली:

दिल्ली में नए साल की सुबह एक महिला को एक घंटे से अधिक समय तक कार के नीचे घसीटे जाने के चौंकाने वाले मामले की आंतरिक पुलिस जांच के आदेश दिए गए हैं। पुलिस ने कहा कि जांच रिपोर्ट गृह मंत्रालय को भेजी जाएगी।

दिल्ली पुलिस की वरिष्ठ अधिकारी शालिनी सिंह जांच की प्रभारी होंगी। सुश्री सिंह इस बात की जांच करने जा रही हैं कि उस रात पुलिस को कितनी कॉलें की गईं और पुलिसकर्मियों का प्रतिक्रिया समय क्या था। यह पता लगाने के लिए भी जांच के आदेश दिए गए कि जिस 12 से 13 किलोमीटर क्षेत्र में महिला को घसीटा गया था वहां कोई पुलिसकर्मी या पीसीआर वैन क्यों नहीं थी।

पुलिस के मुताबिक, जांच में शामिल सभी अधिकारियों के बयान दर्ज किए जाएंगे ताकि यह पता लगाया जा सके कि कहीं उनकी ओर से कोई लापरवाही तो नहीं हुई।

सुश्री सिंह और उनकी टीम ने सुल्तानपुरी से कंगावाला तक 13 किलोमीटर की दूरी का निरीक्षण किया, जहां 20 वर्षीय महिला को कार से टक्कर मारने के बाद घसीटा गया था।

पूरी रिपोर्ट तैयार कर गृह मंत्रालय को भेजी जाएगी और कर्तव्य में लापरवाही पाए जाने पर पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

कार मारुति सुजुकी बलेनो में सवार पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने पुलिस को बताया कि दुर्घटना के बाद वे यह जाने बिना कि अंजलि को घसीट कर ले गए थे, भाग गए। महिला के परिवार ने आरोप लगाया कि उसके साथ यौन शोषण भी किया गया है।

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

सीसीटीवी में दिखा दिल्ली की महिला एक बॉयफ्रेंड के साथ थी। वह कथित तौर पर एक दुर्घटना के बाद भाग गई थी


और भी खबर पढ़े यहाँ क्लिक करे


ताज़ा खबरे यहाँ पढ़े


आपको हमारा पोस्ट पसंद आया तो आगे शेयर करे अपने दोस्तों के साथ


Leave a Comment